दिव्य महाराष्ट्र मंडल

यह स्कूल आपका है, स्कूल आगे बढ़ेगा तो निःसदेह आप सब की प्रगति होगीः काळे

रायपुर। महाराष्ट्र मंडल द्वारा संचालित संत ज्ञानेश्वर स्कूल में शनिवार, 15 जून को शिक्षण सत्र 2024-25 के लिए Team Building session का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रुप में पहुंचे महाराष्ट्र मंडळ के अध्यक्ष और मोटिवेशनल स्पीकर अजय मधुकर काळे ने सभी शिक्षकों को नये सत्र के प्रारंभ  शुभकामनाएं दी और कहा कि यह आपका स्कूल है, स्कूल आगे बढ़ेगा तो निःसंदेह आप सभी की प्रगति भी संभव होगा। उन्होंने कहा कि आप यहां खुद को एक कर्मचारी मानकर काम न करें। बच्चों के सर्वांगीण विकास पर फोकस करें, ताकि जितना आपको गर्व होगा, उससे कहीं ज्यादा मुझे होगा। 
 
शिक्षकों को संबोधित करते हुए काळे ने कहा कि आपको बच्चों को पढ़ाने और काबिल बनाने की जिम्मेदारी मिली है, आपको क्लास में सभी बच्चे एक समान नहीं मिलेगें। ऐसे में कहींओनध बच्चों को प्रदर्शन कमजोर है, उन पर आप फोकस करें। डी ग्रेड के बच्चों को सी ग्रेड और सी के बच्चों को बी, बी के बच्चों को ए ग्रेड में अपडेशन के लिए काम करना चाहिए। अच्छे बच्चों को तो कोई भी पढ़ा लेगा। एक क्लास में अधिकतम 40 बच्चे है, ऐसे में कमजोर बच्चों की लिस्टिंग करें और उन पर फोकस करें। मैं नहीं कहता कि मुझे स्कूल का रिजल्ट 100 परसेंट चाहिए, लेकिन मैं चाहता हूं कि आप अपना 100 परसेंट जरूर दें। 
 
अजय काळे ने कहा कि साल के 150-160 दिन ही स्कूल लगता है। ऐसे में आपको इतने ही समय में बच्चों को तैयार करना है। आप सभी अपना टारगेट फिक्स करें कि हमें इस वर्ष क्या अच्छा और अलग करना है। इस टारगेट को अपने घर पर आईने में लिखे। हर सप्ताह इसे रिवाइज करें। ऐसा करने से जब आप अपने टारगेट को पूरा नहीं कर पाएंगे तो आईने के सामने जाने से आपको खुद को शर्म आएगी। और आप अपने टारगेट को पूरा करने डबल मेहनत करेंगे। 
 
काळे ने कहा कि महाराष्ट्र मंडळ द्वारा संचालित यह स्कूल सिर्फ शैक्षणिक संस्था नहीं है, बल्कि इसके साथ 88 वर्षों से समाजसेवा कर रही महाराष्ट्र मंडळ और उसकी पूरी टीम खड़ी है। आपके मन में कई तरह के मतभेद और मनमुटाव हो सकते है, लेकिन मैं आप सभी से अपील करूंगा कि ‘क्षमा’ के साथ उन सभी पुरानी बातों को भूलकर नये सत्र की शुरूआत करें।