देश-विदेश

BIG NEWS : इस बार मानसून में देरी की संभावना... देशभर में हीटवेव के हालात... जानिए आईएमडी का क्या है कहना

देश में आमतौर पर मानसून की शुरुआत 25 मई से 1 जून के बीच होती है। इस दौरान मानसून केरल में दस्तक देता है, इसके बाद 15 दिनों के भीतर देशभर में मानसून का असर नजर आने लगता है। मौसम विभाग के मुताबिक, अमूमन केरल में मानसून 1 जून को पहुंचता है। इसके अलावा तमिलनाडु, बंगाल की खाड़ी, कोंकण में भी मॉनसून 15 जून तक सक्रिय होता है।

लेकिन इस बार केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत में सामान्य तिथि की तुलना में देर हो सकती है। आईएमडी का कहना है कि मानसून के 4 जून तक आने की संभावना है। इसे भी तय तारीख नहीं माना जा रहा है। बल्कि इसमें में भी फेरबदल की संभावना व्यक्त की जा रही है। इसके अलावा अभी देश के कई राज्यों में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी रहेगा। आईएमडी अधिकारी कुलदीप श्रीवास्तव ने मंगलवार को बताया कि मई के पहले दो हफ्तों में हीटवेव की स्थिति पश्चिमी विक्षोभ के कारण कम गंभीर थी जिसने उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों को प्रभावित किया।

उन्होंने कहा कि जैसा कि अगला पश्चिमी विक्षोभ उत्तर पश्चिम भारत में आ रहा है, अगले 7 दिनों तक, हम वहां हीटवेव की स्थिति की उम्मीद नहीं कर रहे हैं, लेकिन तापमान अधिक होगा, 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास तक। हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तर-पूर्वी राजस्थान में धूल भरी हवाएं चल रही हैं। इसके पीछे मुख्य कारण ये है कि एक पश्चिमी विक्षोभ गुजर चुका है और तेज हवाएं चल रही हैं। इसके अलावा, पिछले सप्ताह तापमान काफी अधिक था, ज्यादातर हिस्सों में ये 40 डिग्री सेल्सियस या उससे ऊपर रहा।

 

----------